Saudi Arab : Middle East में UAE के बाद सऊदी सबसे बड़ा टूरिस्ट डेस्टिनेशन

Saudi Arab : Middle East का दूसरा सबसे बड़ा टूरिस्ट डेस्टिनेशन सऊदी अरब है। विश्व पर्यटन दिवस की मेजबान इस बार मध्य पूर्व का एक प्रमुख देश सऊदी अरब कर रहा है. सऊदी अरब में पर्यटन अधिकांश तौर पर यहां इस्लाम के प्रमुख धर्म स्थल मक्का और मदीना के होने से धार्मिक श्रद्धालुओं के आने […]

Gaya DigestGaya Digest verified Bot Account ?
2 months ago - 17:20
 0  2
Saudi Arab : Middle East में UAE के बाद सऊदी सबसे बड़ा टूरिस्ट डेस्टिनेशन

Saudi Arab : Middle East का दूसरा सबसे बड़ा टूरिस्ट डेस्टिनेशन सऊदी अरब है। विश्व पर्यटन दिवस की मेजबान इस बार मध्य पूर्व का एक प्रमुख देश सऊदी अरब कर रहा है. सऊदी अरब में पर्यटन अधिकांश तौर पर यहां इस्लाम के प्रमुख धर्म स्थल मक्का और मदीना के होने से धार्मिक श्रद्धालुओं के आने जाने के कारण होता है, लेकिन सऊदी अरब अब तेल पर से अपनी निर्भरता को हटाना चाहता है जिसकी वजह से अब वो टूरिज्म को बढ़ावा दे रहा है।

सऊदी बढ़ा रहा पर्यटन स्थल

Holiday पर्यटन के क्षेत्र में यहां बहुत ही तेजी से वृद्धि देखने को मिल रही है. यहां पर्यटन के लिए जहां लोगों की जरूरतों का खास तरह का ख्याल रखा जा रहा है, तो वहीं दूसरी तरह से समुद्र में स्कूबा डाइविंग से लेकर रेगिस्तान के ओयसिस तक की यात्रा के अनुभव को पर्यटन में शामिल किया गया है. इसके अलावा कुछ ऐतिहासिक महत्व के सांस्कृतिक स्थल भी हैं जिन्हें पर्यटन के लिहाज से विकसित किया जा रहा है.

Also Read – Saudi Arabia ने नेशनल डे पर दी बहुत बड़ी ख़ुशबरी, पासपोर्ट को लेकर है खबर

मक्का

जानकारी के लिए बता दे की पर्यटन के लिहाज सऊदी अरब का प्रमुख धर्मस्थल मक्का सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है. इस जगह को इस्लाम के पैगम्बर मोहम्मद का जन्मस्थल माना जाता है. यहां हर साल लाखों की संख्या में इस्लाम को मानने वाले अपने पवित्र धार्मिक यात्रा, हज यात्रा, मक्का की मस्जिद तक, इस्लामिक कैलेडर के आखिरी महीने में आते हैं.

रियाद

रियाद, अरबी में इस शब्द अर्थ “बागीचे” होता है. देश का राजनैतिक, आर्थिक और प्रशासनिक केंद्र होने के अलावा रियाद पुराने समय में केवल एक वर्ग किलोमीटक के दायरे में फैला दीवारों से घिरा एक मरुउद्यान था. यह क्षेत्र शहर का प्रमुख पर्यटन स्थल है. आज रियाद एक ग्लोबल सिटी के तौर पर विकसित हो गया है और यहां के किलों के अलावा गगनचुंबी इमारतें दुनिया भर में मशहूर हैं.

ताबुक और लाल सागर

Also Read – Saudi Indian Worker Die : सऊदी अरब में काम कर रहे 49 वर्षीय भारतीय लालमन की मौत

ताबूक सऊदी अरब के सबसे मशहूर प्राकृतिक और एतिहासिक स्थलों में से एक है जिसमें जिबल हिस्मा नाम की बालू पत्थर की आकृतियां जादुई प्रभाव देती प्रतीत होती हैं.

सउदी अरब के पश्चिम में लाल सागर के तट पर जेद्दा देश का प्रमख व्यापारिक केंद्र है. मक्का और मदीना जैसे धार्मिक स्थलों तक जाने के लिए यह पश्चिमी द्वार माना जाता है. यहां के ऐतिहासिक महत्व के अलावा आज के युग के सुविधाओं सहित पर्यटन के लिहाज से कई आर्कषण हैं. परम्परागत इमारतें, ऐतिहासिक मस्जिदें, लजीज स्थानीय भोजन, इसे पर्यटन के लिए बहुत बेहतरीन डेस्टिनेशन बनाती हैं.

अल हिज्र और यांबू शहर

हेग्रा या मादाइन सालेह या अल हिज्र के नाम से पहचाने वाला क्षेत्र सऊदी अरब का प्रसिद्ध पुरातात्विक स्थल है. यहां मकबरे की तरह बनी इमारतें विश्व धरोहर के रूप में पहचानी जाती हैं.

लाल सागर के किनारे पर स्थित यांबू शहर अपने उद्योगों, ऐतिहासिक इमारतों, समुद्री बंदरगाह, के अलावा सफेद रेत वाले समुद्री तट, कोरल रीफ और स्कूबा डाइविंग के लिए भी मशहूर हो रहा है. यह शहर आधुनिक सुविधाओं और व्यवसायिक केंद्र होने के बावजूद एक टूरिस्ट डेस्टिनेशन के तौर पर तैयार हो रहा है.

 

 

Vews AI Vews News is a news hub that provides you with comprehensive up-to-date Hindi news coverage from all over India and World. Get the latest Hindi top stories, only on Vews News