Saudi Alcohol Store: सऊदी अरब में फिर से बिकेगा शराब लेकिन आखिर क्यों हुई थी बंदी

Saudi Alcohol Store: 70 साल बाद इस्लाम के गढ़ सऊदी अरब में शराब की दुकान खुलेगी. सऊदी अरब का कहना है कि वह गैर-मुस्लिमों के चुनिंदा समूह के लिए रियाद में शराब की दुकान खोलेगा. ऐसे में सवाल है कि 70 साल पहले सऊदी अरब पर क्यों शराब पर प्रतिबंध लगाया गया, यहां इसको लेकर […]

Gaya DigestGaya Digest verified Bot Account ?
3 months ago - 14:40
 0  2
Saudi Alcohol Store: सऊदी अरब में फिर से बिकेगा शराब लेकिन आखिर क्यों हुई थी बंदी

Saudi Alcohol Store: 70 साल बाद इस्लाम के गढ़ सऊदी अरब में शराब की दुकान खुलेगी. सऊदी अरब का कहना है कि वह गैर-मुस्लिमों के चुनिंदा समूह के लिए रियाद में शराब की दुकान खोलेगा. ऐसे में सवाल है कि 70 साल पहले सऊदी अरब पर क्यों शराब पर प्रतिबंध लगाया गया, यहां इसको लेकर क्या सजा दी जाती है और शराब की दुकान क्यों खोली जा रही है?

ऐसे में सवाल है कि 70 साल पहले सऊदी अरब पर क्यों शराब पर प्रतिबंध लगाया गया, यहां इसको लेकर क्या-क्या सजा दी जाती है और शराब की दुकान क्यों खोली जा रही है?

70 साल पहले क्यों लगा प्रतिबंध?

शराब को इस्लाम में हराम बताया गया है. सऊदी अरब उन चंद इस्लामिक देशों में शामिल है जहां इस पर प्रतिबंध है. इनमें खाड़ी देश कुवैत और UAE का शारजाह भी है. सऊदी में शराब पर पाबंदी 1952 में लगी थी. इसके पीछे भी एक वजह थी.

तत्कालीन राजा और सऊदी अरब के संस्थापक सम्राट अब्दुल अजीज ने शराब पर तब प्रतिबंध लगाया था जब उनके बेटे प्रिंस मिशारी ने शराब पीने के बाद जेद्दा में ब्रिटिश राजनायिक सिरिल उस्मान की गोली मारकर हत्या कर दी थी. यह मामला तब बढ़ा था जब बेटे ने एक कार्यक्रम में और शराब मांगी थी, लेकिन न मिलने पर बवाल हो गया था और गोली चला दी थी. इस घटना के एक साल बाद ही शराब प्रतिबंधित करने का फैसला लिया गया. इस मामले में बेटे को दोषी करार भी दिया गया था.

Also Read: गुड न्यूज़! यूएई ने की बड़ी घोषणा, अब मिलेगी Visa Free Entry

आखिर क्यों लिया गया ये फैसला?

समय के साथ सऊदी अरब के परिवार की विचारधारा और कट्टर हुई, लेकिन पिछले कुछ सालों में सऊदी अरब ने ऐसे कदम उठाए जो दुनियाभर में उसकी छवि को बदल सके. ज्यादातर ऐसे फैसले लिए जिससे बदलाव भी आए और उसकी अर्थव्यवस्था को भी रफ्तार मिले. यही वजह है कि अब यह देश तेल पर अर्थव्यवस्था की अपनी निर्भरता को कम कर रहा है. पर्यटन से लेकर उद्योगों तक, लोगों को आकर्षित करने के लिए नए-नए तरीके अपना रहा है.

सऊदी में शराब की ब्रिकी को एक प्रयोग भी कहा जा सकता है, जो सीधे तौर पर देश की अर्थव्यस्था को रफ्तार देगा. हालांकि, यहां के अधिकारियों का कहना है कि यह शुरुआत शराब के अवैध कारोबार को रोकने का काम करेगी. जल्द ही दुकान को खोला जाएगा.

Also Read: Saudi: सऊदी अरब से लौटा शख्स, फिर हुआ ऐसा फिर हुआ ऐसा की चकरा गए सब

इतनी भी आसानी से नहीं मिलेगी शराब, नियम को समझें

यह घोषणा भले ही हो गई है, लेकिन दुकान खुलने के बाद शराब इतनी आसानी से नहीं मिलेगी. इसके लिए डिप्लोमैट को पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा. फिर सरकार की परमिशन के बाद भी शराब मिलेगी. 21 से कम उम्र वालों को स्टोर में आने की इजाजत भी नहीं होगी.

शराब कितनी मिलेगी, इसकी भी एक सीमा तय होगी. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, डिप्लोमेट हर महीने 240 पॉइंट्स शराब पा सकेंगे. एक लीटर शराब में तीन पॉइंट होते हैं, वहीं एक लीटर बीयर में एक पॉइंट.

Vews AI Vews News is a news hub that provides you with comprehensive up-to-date Hindi news coverage from all over India and World. Get the latest Hindi top stories, only on Vews News